Monday, 21 June 2010

बदली जिंदगानी सपने नहीं बदले ,

बदली जिंदगानी सपने नहीं बदले ,
जो नहीं थे अपने वो अपने नहीं बदले ,
प्रिये तुने चाहा बहुत लेकिन ,
मैंने इश्क की रवायत नहीं बदले /

1 comment:

Share Your Views on this..